Click Here for Product Demand Form

फसल कि वृध्दीदर बढाने हेतू फॉलीबिओन का करे छीडकाव!

नमस्कार, इस वर्ष पाटील बायोटेक प्रा. ली. ने "फॉलीबिओन" ये अनोखा उत्पादन आपके सेवामे सादर किया है. हमारे वेबसाईट के माध्यम से भारत के हर कोने मे उपलब्ध किया जा रहा है.

फॉलीबिओन मे 60 से 65 प्रतिशत प्राणीजन्य प्रोटीन हायड्रोलायझेट एवं अमिनो एसिड है. फॉलीबिओन तयार करते समय एन्झाईम का ईस्तेमाल होने से इसमे रासायनिक अंश बिलकुल नही होते. इस श्रेणीमे उपलब्ध अन्य कंपनीयोंके उत्पादमे सोडियम तथा क्लोराईड होते है जिसका फसल को कोई फायदा नही होता.

छीडकाव करते समय प्रती लिटर पाणी मे १ से ३ मिली फॉलीबिओन मिलाए, ये तुरंत घुल जाता है. पत्तीया इसे तुरंत हि अवशोषित कर लेती है. तयार अमिनो एसिड कि प्राप्ती होते हि फसल का वृध्दीदर बढता है. शाखीय बढत प्राप्त होती है, फुलोंकी तथा फलोन्की संख्या बढती है.

  • फॉलीबिओन के प्रभाव से फसलमे प्रतिकूल जलवायू का सामना करने क्षमता निर्माण होती है. 
  • कीटनाशक, रासायनिक खाद तथा खरपतवार नाशक के गलत इस्तेमालसे फसलपर होनेवाले विपरीत परिणामोसे उबरने के लीए फॉलीबिओन उपयोगी है
  • किसीभी कारणवश फसल कि वृध्दीदर फिसलती है तो फॉलीबिओनकि छीडकाव से वृध्दीदरमे इजाफा किया जा सकता है
  • जीन फसलोमे छीद्काव संभव नही होता उनमे फॉलीबिओन का पानी मे घोल बनकर ड्रेंचींग या ड्रीप से दे सकते है


जिस तरह बिमार व्यक्ती को बिमारीसे उबरने के हेतूसे टोनिक दिया जाता है उसी तरह फसल को फॉलीबिओन दिया जा सकता है. सामान्य परिस्थितीमे फसल सूर्यप्रकाश, पानी व पानीमे घुले अन्यद्र्व्योसे शर्करा का निर्माण करती है. इस शर्करा का इस्तेमाल कर अमिनो एसिड तथा प्रोटीन बनाए जाते है. प्रोटीन से हि एन्झाईम बनते है जो फसल के मेटाबोलीझम को चलाते है. जब फसल को फॉलीबिओन प्राप्त होता है तो वो इसका सीधा इस्तेमाल कर पाती है.इस

इसके खरीदके लिये नीचे लिंक है. ३० सितंम्बर के पूर्व ऑर्डर करने से आपको २०० रु मूल्य का यलो स्टिकी ट्रैप मुफ्त दिया जाएगा.

 

.